khamoshi shayari hindi

Khamoshi shayari in hindi

ग़म की बारिश 🍂💞ने भी तेरे नक्श को धोया नहीं

तूने मुझको खों दिया मेंने तुझे 💞खोया नहीं!!

gam kee baarish 🍂💞ne bhee tere naksh ko dhoya nahin

toone mujhako khon diya menne tujhe 💞khoya nahin!!

2 line Khamoshi shayari image

Dil khamosh raha

वों तोड़ गया दिल में🥺 ख़ामोश रहा..

दिल से बहते आसुओं🥺 को आखों से रोकता रहा,

अब और क्या इंतज़ा होती मेरी मोहब्बत की..

आईने के सामने भी 💔मै मदहोश रहा!!

वों जा रही थी छोड़कर कई🧸 दूर मुझसे..

जुबा से इजाज़त देकर 💔उसे दिल से रोकता रहा!!

dil khamosh rah

von tod gaya dil mein🥺 khaamosh raha..

dil se bahate aasuon🥺 ko aakhon se rokata raha,

ab aur kya intaza hotee meree mohabbat kee..

aaeene ke saamane bhee 💔mai madahosh raha!!

von ja rahee thee chhodakar kaee🧸 door mujhase..

juba se ijaazat dekar 💔use dil se rokata raha!!

Khamoshi shayari in hindi

Khamoshi shayari -ये ख़ामोशी ही बेहतर है,

ये ख़ामोशी ही बेहतर है, 🥺🧸जनाब..

बहुत से तो यू ही पूछ लेते हैं हालत

हर कोई अपना ❤️नहीं होता ग़म ए महफिल में,

बस टूटने वाले जानते हैं अपने💔 दिल का हाल!!

ye khaamoshee hee behatar hai, 🥺🧸janaab..

bahut se to yoo hee poochh lete hain haalat

har koee apana ❤naheen hota gam e mahaphil mein,

bas tootane vaale jaanate hain apane💔 dil ka haal!!

इस रात की ख़ामोशी 🌿में दिल पूछता बार बार है..

इंतजार ए रात के बाद सुबह होती🍁🌿 बार बार है,

नक्श छोड़ गया वो ❤️दिल में कुछ एसे..

ना चाहकर भी दिल उसे याद 💞करता बार बार है!!

is raat kee khaamoshee 🌿mein dil poochhata baar baar hai..

intajaar e raat ke baad subah hotee🍁🌿 baar baar hai,

naksh chhod gaya vo ❤dil mein kuchh ese..

na chaahakar bhee dil use yaad 💞karata baar baar hai!!

ये रात की🍂 खामोशी ये आलम🧸 ए तन्हाई!

फ़िर दर्द उठा दिल💔 में फ़िर याद 🥺तेरी आई!!

2 line Khamoshi shayari image

जिगर ए वफा मे 💔एसे नक्श छोड़ आया हू,

मै जिस मंज़िल से गुजरा हू वो अभी तक🌿💞 याद करती हैं!!

आँख से दूर ना हो 🥺दिल से उतर जाएगा,

वक्त्त का 🍂🍂क्या है गुजरता है गूजर जाएगा,

जिन्दगी तेरी अता है तो 💔🧸ये जाने वाला,

तेरी बक्शीश ❤️🍂तेरी दहलीज पे धर जाऊँगा,

ज़ब्त 🍂लाज़िममा है मग़र🥺 दुःख है फराज..

ज़ालिम💔 अब भी ना रोये गा तो मर 🧸जाएगा!!

aankh se door na ho 🥺dil se utar jaega,

vaktt ka 🍂🍂kya hai gujarata hai goojar jaega,

jindagee teree ata hai to 💔🧸ye jaane vaala,

teree baksheesh ❤🍂teree dahaleej pe dhar jaoonga,

zabt 🍂laazimama hai magar🥺 duhkh hai pharaaj..

zaalim💔 ab bhee na roye ga to mar 🧸jaega!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *